172 News

News

उज्जैन: अपेक्षा से अधिक सफल रहा नगर निगम का पहला केरियर गाईडेंस प्रोग्राम । जहां विद्यार्थियों ने भविष्य निर्माण को लेकर उत्साहपूर्वक प्रश्न पूछे वहीं प्रशिक्षकों ने अत्यन्त ही सरलता और सौम्यता के साथ मार्गदर्शन करते हुए प्रश्नों के उत्तर दिये । महापौर श्रीमति मीना विजय जोनवाल और आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल आईएएस ने परिवार के मुखिया जैसी भूमिका अदा करते हुए विद्यार्थी बच्चों के सर पर मार्गदर्शन का हाथ रखा, जिसके साये में बच्चों ने भीषण गर्मी में भी अपने सीने में ठण्डक मेहसूस की । रविवार को निगम परिषद हाॅल में आयोजित केरियर काउन्सलिंग, मार्गदर्शन कार्यशाला में बड़ी संख्या में विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों ने सम्मिलित हो कर कार्यशाला का लाभ प्राप्त किया । महापौर श्रीमति मीना विजय जोनवाल ने इस अवसर पर कहा कि मेरे अपने परिवार में मेरे बच्चों ने जब अपने भविष्य को लेकर कुछ प्रश्न किये और अपनी उल्झने मेरे सामने रखीं तो मुझे खयाल आया कि इसी तरह की उल्झनें और प्रश्न अन्य बच्चों के मन में भी आते होंगे । इस विचार के आते ही मैं ने सोचा कि शहर के आम नागरिकों और उनके बच्चों को भी मार्गदर्शन की आवश्यकता होगी, इसी सिलसिले में यह मार्गदर्शन कार्यशाला का आयोजन किया गया । मुझे खुशी है कि बड़े पैमाने पर विद्यार्थियों ने इसमें सम्मिलित हो कर हमारे प्रयास को सफल बनाया । महापौर ने एक कहानी के माध्यम से नैतिक शिक्षा का पाठ बच्चों को पढ़ाया और अपने माता पिता का हमेशा आदर और सम्मान करते हुए आगे बढ़ने की प्रेरणा दी। कार्यशाला में आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल आईएएस से भी विद्यार्थियों ने अनेक प्रश्न पूछे । सुश्री पाल ने अपने अनुभवों को बांटते हुए बहुत ही प्रभावी अन्दाज में विद्यार्थियों का मार्गदर्शन किया । आपने एक काम्पीटिशन का किस्सा सुनाते हुए विद्यार्थियों को प्रेरित करने का प्रयास कि काम्पीटिशन में सफल होने से ज्यादा महत्वपूर्ण यह है कि हम काम्पीटिशन में स्वयं को खड़ा करें । जब हम में किसी भी प्रतियोगिता में सम्मिलित होने की हिम्मत और होसला पैदा हो जाएगा तो निश्चित ही सफलता हमारे कदम चूमेगी । आपने कहा कि या तो हम जीतते हैं या हार कर बहुत कुछ सीखते हैं और यही सीख हमारी सफलता की बुनियाद होती है । प्रशिक्षक श्री वरुण गुप्ता, श्री मुकेश सोनी, श्री कल्याण शिवहरे, श्री अजय जागरी और श्री जीएल परमार ने दिल को छू लेने वाले अन्दाज में सटीक उत्तरों के साथ विद्यार्थियेां का मार्गदर्शन किया । श्री वरुण गुप्ता ने कहा कि ईश्वर ने हमें ऐसे गुण दिये हैं जिनका सार्थक उपयोग किया जाए तो हम अपनी मंजिल पा सकते हैं । आपने कहा कि विद्यार्थियों को सबसे पहले यह सोचना चाहिए कि उन्हें क्या बनना है, अपनी रुचि के दृष्टिगत विषयों का चयन करें । आपने अनेक शैक्षणिक प्रतिष्ठानों , सोश्यल मीडिया की अनेक वेब साईट्स, सरकार द्वारा संचालित विभिन्न पाठ्यक्रमों, शैक्षणिक कार्यक्रमों इत्यादि की जानकारी देते हुए विद्यार्थियों का मार्गदर्शन किया । बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने प्रश्न किये । विशेष रुप से सातवीं कक्षा के छात्र प्रिंस की जिज्ञासा ने सभी को प्रभावित किया । प्रिंस ने कहा कि मैं अपनी टेक्नालाॅजी विकसित करके समूचे विश्व में प्रोजेक्ट करना चाहता हूं, मुझे क्या करना चाहिए । इसी प्रकार की प्रभावित करने वाली दिलचस्प बातें कु. आयुषी जोनवाल, सृष्टि तिवारी, पार्षद श्रीमति प्रमिला मीणा सहित विभिन्न उपस्थित विद्यार्थियों एवं उनके अभिभावकों की ओर से प्रस्तुत की गईं । नगर निगम की ओर से आयोजित इस पहले केरियर गाईडेन्स प्रोग्राम में बड़ी संख्या में पधारे विद्यार्थियों की रुचि ने निगम के इस प्रयास कोे सार्थकता प्रदान की । निगम महापौर ने कार्यक्रम की सफलता पर धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि हम भविष्य में और बेहतर ढंग से कार्यक्रम आयोजन के प्रयास करेंगे । कार्यशाला में सामान्य प्रशासन समिति प्रभारी श्रीमती नीलू रानी खत्री, झोन अध्यक्ष श्री बुद्धीप्रकाश सोनी, पार्षद श्रीमति रिंकू बैलानी, श्रीमती लीला वर्मा, श्रीमति प्रमिला मीणा, उपायुक्त श्री मनोज पाठक सहित सड़ी संख्या में विद्यार्थीगण एवं उनके अभिभावक सम्मिलित रहे । कार्यशाला का संचालन जनसम्पर्क अधिकारी श्री अहमद रईस निज़ामी ने किया और आभार सामान्य प्रशासन समिति प्रभारी श्रीमति नीलूरानी खत्री ने प्रकट किया । निगम की ओर से विद्यार्थियों के लिये ठण्डे जल के साथ ही कोल्ड््िरक और बिस्किट की व्यवस्था भी की गई थी ।

newsimage

Photo

newsimage