481 News

News

उज्जैन: आगामी मकर संक्रान्ति पर्व स्नान के अवसर पर क्षिप्रा में श्रृद्धालुओं को शुद्ध पानी उपलब्ध हो सके इस हेतु प्रशासकीय निर्णय अनुसार गंभीर से क्षिप्रा में पानी पहुंचाया जा रहा है। निगम द्वारा इस व्यवस्था को लागू करते हुए धार्मिक आस्थाओं का सम्मान किया है। यह बात महापौर श्रीमती मीना विजय जोनवाल ने कही। महापौर द्वारा बुधवार को रामघाट, लालपुल, मंगलनाथ इत्यादि क्षैत्रों में जाकर क्षिप्रा के पानी की वास्तविक स्थिति का जायजा लिया। महापौर ने कहा कि स्नान पर्व हमारी धार्मिक आस्था से सम्बद्ध है। हमारा प्रयास रहता है कि श्रृद्धालुओं को अधिकाधिक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाना चाहिए। हमने पूर्व में भी विपरीत परिस्थितियों में भी श्रृद्धालुओं की सुविधाओं का ख्याल रखा है और भविष्य में ऐसा ही किया जाएगा। मकर संक्रान्ति स्नाान हेतु प्रतिदिन 1 एमसीएफटी पानी गंभीर से क्षिप्रा के लिये छोड़ा जा रहा है ताकि श्रृद्धालु शुद्ध जल से स्नान कर सकें। यह व्यवस्था मकर संक्रान्ति तक जारी रहेगी। महापौर श्रीमती मीना विजय जोनवाल ने एमआईसी सदस्य के साथ कलेक्टर श्री शंशाक मिश्रा से भेंट की, उन्हें पत्र प्रेषित कर अपनी मंशा से अवगत कराया और कहा कि भविष्य में पानी की कमी होने की स्थिति में जनहित में एनबीडीए द्वारा दिये गए आश्वासन अनुसार सहयोग अपेक्षित होगा। इस दौरान महापौर श्रीमती मीना विजय जोनवाल के साथ एमआईसी सदस्य श्रीमती कलावती यादव, श्रीमती दुर्गाशक्ति सिंह चैधरी, श्री मांगीलाल कड़ेल, झोन अध्यक्ष श्री बुद्धिप्रकाश सोनी, उपायुक्त श्री योगेन्द्र पटेल, श्री सुनिल शाह, अधीक्षण यंत्री श्री प्रदीप निगम, कार्यपालन यंत्री पीएचई श्री धर्मेन्द्र वर्मा, जनसम्पर्क अधिकारी श्री रईस निज़ामी निरीक्षण में सम्मिलित रहे।

newsimage

Photo

newsimage