496 News

News

10 फरवरी तक समस्त स्वीकृत कार्य आरंभ कराएं आयुक्त ने की निर्माण कार्यो की समीक्षा, दिये निर्देश उज्जैन: जो निर्माण कार्य प्रचलित हैं उन्हें हर हाल में एक माह की समयावधी में पूर्ण करावें तथा स्वीकृत समस्त कार्यो को 10 फरवरी तक अनिवार्यतः आरंभ करावें। यह निर्देश आयुक्त प्रतिभा पाल ने दिये है। शनिवार को आयुक्त कक्ष में आयोजित एक महत्वपूर्ण समीक्षा बैठक में आयुक्त ने समस्त झोनल अधिकारियों से झोनवार निर्माण कार्यो की वर्तमान स्थिति की जानकारी चाही। आयुक्त प्रतिभा पाल ने निर्देशित किया कि:- ऽ ऐसे निर्माण कार्य जो स्वीकृत हैं और उनके कार्य आरंभ नहीं हुए है उन समस्त प्रकरणों में तत्काल कार्यवाही करते हुए 10 फरवरी तक कार्य आरंभ कराया जाए। ऽ 2018 के बाद से अब तक के ऐसे स्वीकृत कार्य जो किसी कारणवश आरंभ नहीं हुए उनकी समीक्षा की जाए, परीक्षण किया जाए और जो कार्य कराए जाने की स्थिति में नहीं है उन प्रकरणों को बंद किया जाए। ऽ विभिन्न झोन क्षैत्रों में प्रचलित निर्माण कार्यों को एक माह की समयावधि में पूर्ण कराया जाए। ऽ जो कार्य पूर्ण हो चुके है और लोकार्पण के लिये तैयार है उनकी सूचि प्रस्तुत की जाए ताकि लोकार्पण कार्यक्रम तैयार किया जा सके। ऽ जिन कार्यो को आरंभ किया जाना हैं उनके शुभारंभ भूमिपूजन हेतु तैयारी की जाए। ऽ किसी भी निर्माण कार्य का अनुमान पत्रक किसी मांग के आधार पर ना बनाया जाए बल्कि स्थल पर जाकर स्थल की वास्तविक आवश्यकता के मान से तैयार किया जाए। ऽ अधूरे अनुमान पत्र ना बनाए जाएं। प्रत्येक कार्य के लिये स्थल की वास्तविक आवश्यकता के दृष्टिगत पूर्ण कार्य प्रस्तावित किया जाए। अर्थात कोई कार्य 10 लाख की राशि में पूर्ण होना है तो टुकड़ों टुकड़ों में दो-दो, तीन-तीन लाख के प्रस्ताव ना बनाते हुए सम्पूर्ण कार्य का अनुमान पत्र बनाएं। ऽ झोनल सब इंजीनियर यह सुनिश्चित करें कि उन्हें उनके प्रभार के समस्त प्रकरण प्राप्त हो गए है जो उनके या सम्बंधित लिपिक के पास उपलब्ध हैं। ऽ अनुबंध और कार्य आदेश के बाद भी कार्य ना करने वाले ठेकेदारों के विरूद्ध कार्यवाही प्रस्तावित करें। ऽ जो निर्देश निर्माण कार्यो के सम्बंध में दिये है वे उद्यान विभाग से सम्बंधित कार्यों पर भी लागू होंगे। उद्यान प्रभारी भी इसी अनुसार कार्यवाही करें। ऽ प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जिन आवासों के कार्य अधूरे हैं उन्हें पूर्ण कराया जाए। जिन्हें शेष राशि की किश्त जारी होना है उस सम्बंध में कार्यवाही की जाए। ऽ योजना से सम्बंधित सभी वार्डो का सर्वे कर कच्चे मकानों की सूचि तैयार करें तथा उन्हंे लाभ दिलाने की कार्यवाही करें। ऽ झोनल अधिकारियों को यह सुनिश्चित करना है कि उनके क्षैत्रान्तर्गत आने वाले वार्डो में कोई भी कच्चा मकान शेष नहीं है। 20 फरवरी तक यह कार्य पूर्ण करें। ऽ सिंहस्थ क्षैत्रान्तर्गत आने वाले कच्चे मकानों, झुग्गियों का भी सर्वे किया जाए। बैठक में अपर आयुक्त श्री मनोज पाठक, उपायुक्त श्री सुनिल शाह, श्री योगेन्द्र पटेल, अधीक्षण यंत्री श्री प्रदीप निगम, कार्यपालन यंत्री श्री रामबाबू शर्मा, कार्यपालन यंत्री पीएचई श्री धर्मेन्द्र वर्मा, झोनल अधिकारी श्री मनोज राजवानी, श्री पी.सी. यादव, श्री डी.एस. परिहार, श्री सुनिल जैन, जनसम्पर्क अधिकारी श्री रईस निज़ामी सहित यंत्रीगण उपस्थित रहे।

newsimage

Photo

newsimage