568 News

News

उज्जैन: किसी भी काॅलोनी का निर्माण दो चार दिन में नहीं होता। जब कहीं कोई नवीन निर्माण आरंभ हो उसे आरंभिक स्तर पर ही रोका जाना चाहिए ताकि कहीं कोई काॅलोनी अवैध निर्मित ना हो और इसके कारण बाद में नागरिकों को परेशानी ना हो। यह निर्देश महापौर श्रीमती मीना विजय जोनवाल ने दिये हैं। महापौर कक्ष में आयोजित सूचना एवं प्रोद्योगिकी समिति, काॅलोनी सेल की एक महत्वपूर्ण बैठक में महापौर श्रीमती मीना विजय जोनवाल ने कहा कि निगम द्वारा कुछ समय पूर्व कुछ अवैध काॅलोनियों को वैध किया गया था किन्तु उसके पश्चात कुछ कानूनी रूकावट आ जाने से यह प्रक्रिया रोकना पड़ी थी। जिन लोगों द्वारा निगम में निर्धारित राशि जमा कराई गई है वो और अन्य कालोनी वासी अब भी आशान्वित हैं कि काॅलोनी को वैधता प्राप्त होगी। इस सिलसिले में शासन से इस दिशा में जो विधिसंगत निर्देश प्राप्त हों उस अनुसार कार्यवाही की जाए। कुछ लोग कृषि भूमि पर भूखण्ड काट कर विक्रय कर देते हैं, यह ठीक नहीं है, कलेक्टर को पत्र प्रेषित किया जाए कि कृषि भूमि की रजिस्ट्री कृषि भूमि के नाम से ही होना चाहिए। ऐसे आदेश जारी हों। इस अवसर पर महापौर श्रीमती मीना विजय जोनवाल ने कहा कि काॅलोनियां हों या अन्य रहवासी क्षैत्र हमें पौधारोपण को बढ़ावा देना चाहिए ताकि हम आने वाली नस्ल को शुद्ध जलवायु उपलब्ध करा सके। इस अवसर पर समिति सदस्य श्री सत्यनारायण चैहान, श्री बुद्धिप्रकाश सोनी, श्री राजकमल ललावत, श्रीमती शैफाली राव, श्री जफर अहमद सिद्धिकी, श्री आत्माराम मालवीय, उपायुक्त श्री सुनिल शाह, श्री योगेन्द्र पटेल, कार्यपालन यंत्री श्री रामबाबू शर्मा, श्री अरूण जैन, जनसम्पर्क अधिकारी श्री रईस निज़ामी उपस्थित रहे।

newsimage

Photo

newsimage